amla ke fayde
Image Source : Image by Rajesh Balouria from Pixabay

आँवला के ये फायदे जानकार आप हैरान हो जायेंगे – Amla Ke Fayde

Hello दोस्तों आज हम बात करने वाले है, आँवला (Amla Ke Fayde) के बारे में। जिसमे अनगिनत लाभ छिपे हुए हैं। आँवला (Amla Ke Fayde) का उपयोग त्वचा और बालो के लिए बड़ा ही लाभपद्र हैं। और तो और हम इसका उपयोग हम अनेक रोगो की औषधि बनाने के लिए भी करते है। इसका प्रयोग हम कई प्रकार से कर सकते है। जैसे – आँवले का जूस, आँवले का अचार, आँवला का तेल, आँवला पाउडर आदि। आँवले (Amla Ke Fayde) में अधिक मात्रा में विटामिन्स, मिनरल, और न्यूट्रिएंट्स पाए जाते है।

आँवला (Amla) Scientific name –

Phyllanthus Emblica और Emblica officials है। 

आंवले का सामान्य नाम क्या है?

 भारतीय गूजबेरी, आमलकी

आंवले का संस्कृत नाम क्या है? 

अमृतफल, अमृता, खत्री

कैसा दिखता है आंवले का पेड़?

इसका पेड़ छोटे से मध्यम ऊंचाई का होता है जो लंबाई में 8 से 18 मीटर तक होता है। इसके फूल और फल दोनों ही हल्के हरे और पीलापन (Greenish – Yellow) लिए हुए होते हैं। 

कब पकता है आंवला?

बसंत के मौसम में आँवला (Amla Ke Fayde) पूरी तरह पकता है।

आंवले का स्वाद कैसा होता है?

 इसका स्वाद थोड़ा खट्टा और कसैला होता है जिसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है। 

यह भी पढ़ेकपूर के ये फायदे जानकर आप चौंक जायेंगे

यह भी पढ़ेजानिए तुलसी कितनी चमत्कारी और असरकारी है?

आंवले की तासीर कैसी होती है?

  • आंवला (Amla Ke Fayde) ठंडी तासीर वाला फल होता है।
  • पुराने समय से ही आँवले का प्रयोग अचार तथा मुरब्बा बनाने में होता आया है। इसमें उच्च मात्रा में असोर्बिक एसिड (विटामिन सी) होता है। इसके साथ ही Punicalagin, Phylline Malinin A, Ellagic Acid भी पाये जाते हैं। आयुर्वेदिक दवाइयों में भी वर्षों से आँवले का प्रयोग किया जाता रहा है।

आंवले से होने वाले फायदे –

  • आँवला (Amla Ke Fayde) खाने से हाई कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित होता है। इसमें मौजूद विटामिन सी से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा घटती है।
  • आँवला का प्रयोग शुगर रोगियों के लिए भी लाभकारी है। यह रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित रखता है। जिससे शुगर धीरे धीरे कम होती है।
  • कर्नाटक के फादर म्यूलर मेडिकल कॉलेज की रिसर्च डेवलेपमेंट सेल द्वारा किए गए एक शोध ने इस बात को प्रमाणित किया है। जिसमें यह पाया गया कि आंवला में गैलिक एसिड (Gallic Acid), गेलोटेनिन (Gallotannin), एलेजिक एसिड (Ellagic Acid) और कोरिलागिन (Corilagin) नाम के तत्व मौजूद होते हैं। ये सभी तत्व एंटीऑक्सीडेंट  प्रभाव show करते हैं। साथ ही शोध में यह भी देखा गया कि इन्हीं एंटीऑक्सीडेंट के कारण ही आंवला एंटीडायबिटिक प्रभाव भी प्रदर्शित करता है, जो बढ़े हुए ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है । इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा कि डायबिटीज की समस्या में आंवला खाना फायदेमंद साबित हो सकता है।

(Amla Ke Fayde)

यह भी पढ़ेगहरी और अच्छी नींद लेने के फायदे

यह भी पढ़ेअपनी रोग प्रतिरोधक छमता (DISEASE RESISTANCE) कैसे बढ़ाये?

  • अग्नाशय में दर्द होने या सूजन की शिकायत होने पर भी आँवला खाना काफी लाभप्रद होता है।
  • कैंसर से बचाव में भी आँवला (Amla Ke Fayde) खाना फायदेमंद होता है। इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण के कारण इस घातक बीमारी से बचाव और रोकथाम के लिए यह लाभकारी सिद्ध हुआ है। 
  • कर्नाटक के फादर म्यूलर मेडिकल कॉलेज द्वारा आंवला पर की गई एक रिसर्च में पता चला कि इसमें कीमोप्रिवेंटिव प्रभाव पाए जाते हैं, जो कैंसर से बचाव में मददगार साबित हो सकते हैं। साथ ही शोध में यह भी बताया गया कि आंवला में मौजूद कुछ फाइटोकेमिकल्स (Gallic acid, aalic acid, pyrogallol, noresquiterpenoid, corilagin, geraniin, elaeocarpusin and prodelphinidin B1 and B2) में एंटीनियोप्लास्टिक (कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने वाला) प्रभाव मौजूद होता है। इन तत्वों की मौजूदगी के कारण ही आंवला का सेवन कैंसर के खतरे को कुछ हद तक कम करने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही इस बात को भी ध्यान में रखना भी आवश्यक है कि कैंसर एक घातक और जानलेवा बीमारी है। इसलिए, इस बीमारी के उपचार के लिए घरेलू उपचार की जगह डॉक्टरी इलाज भी बहुत जरूरी है।
  •  पेट खराब होने, अपच की शिकायत या जलन होने पर भी आँवला खाने से बेहद लाभ मिलता है।
  • खराब पाचन क्रिया को सुधारने में भी आंवले का जूस बहुत कारगर माना गया है। एक शोध में यह पता चला है कि इसमें स्टमैकिक ( Stomachic – पाचन सुधार और भूख को बढ़ावा देने वाला) गुण पाया जाता है। साथ ही उसी  शोध में यह भी माना गया कि आंवला पेट के अल्सर और अपच की समस्या में सुधार लाने  में कारगर साबित होता है। इसमें पेट में गैस की समस्या से राहत दिलाने की भी क्षमता भी पाई जाती है। 
  • आँखों के रोगों में भी आँवला (Amla Ke Fayde) का प्रयोग लाभकारी है। मुरब्बा, अचार या सूखा आँवला किसी भी रूप में खाया जा सकता है। इससे आँखों की रोशनी भी बढ़ती है। जर्नल ऑफ फार्माकोग्नॉसी एंड फाइटोकेमिस्ट्री के एक शोध में यह पाया गया है कि आंवला का सेवन Conjunctivitis और ग्लूकोमा जैसे आंखों के रोग को ठीक करने में मदद कर सकता है। Conjunctivitis में आंख के सफेद हिस्से में सूजन और ग्लूकोमा में रोगी की नजर कमजोर होने लगती है। इसके साथ ही आंखों की नसों पर पड़ने वाले  दबाव से राहत पाने में भी आंवला मददगार साबित हुआ है। इसके लिए आंवला के जूस में शहद मिलाकर दिन में दो बार लेना चाहिए। 

(Amla Ke Fayde)

यह भी पढ़ेएलोवेरा : जानिए इसके चौका देने वाले फायदे और नुकसान

यह भी पढ़ेदांतों के दर्द को छू मंतर करने के जबरदस्त घरेलू उपाय

  •  जोड़ों के दर्द में भी आँवला खाना प्रभावकारी होता है। जो लोग आँवला नहीं खा सकते वह आंवले के रस का सेवन कर सकते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो आंवले में एंटी इन्फ्लामेट्री (सूजन कम करने वाला) गुण पाया जाता है। यह गुण आर्थराइटिस (गठिया) की समस्या में होने वाली जोड़ों की सूजन को कम करने में मदद करता है। वहीं, इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी भी पाया जाता है। विटामिन सी हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत जरूरी माना जाता है। इस आधार पर हम यह कह सकते हैं कि कहीं न कहीं हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में आंवला सहायक साबित हो सकता है।
  •  आजकल मोटापा आम हो गया है। मोटापे से मुक्ति के लिए रोज निहार मुँह आँवला खाएं।
  • आँवला खाने से त्वचा और बालों की खूबसूरती भी बढ़ाई जा सकती है। आँवला खाने से त्वचा में चमक तो आती ही है और साथ ही बाल लंबे काले और घने होते हैं। आंवले के जूस के फायदे त्वचा के लिए भी फायदेमंद होते हैं।
  • हाल ही में आंवले से संबंधित एक शोध के मुताबिक इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो मुक्त कणों के प्रभाव को दूर करते हैं। तथा इसके साथ ही ये त्वचा की रंगत को साफ करने में भी मदद करते हैं। इस तथ्य को देखते हुए यह माना जा सकता है कि आंवला जूस पीने के फायदे त्वचा की रंगत को साफ करने और इसे चमकदार बनाए रखने में सहायक साबित हो सकते हैं।
  • बॉडी रिएक्शन से होने वाले दर्द और सूजन का उपचार भी आंवले से संभव है।
  • त्वचा का रंग निखारने के लिए रोज आँवला खाएं। इसके अलावा फेस पैक के रूप में भी आँवला लगाया जा सकता है।
  •  जिनका सिर कमजोर हो और सिर दर्द की शिकायत अक्सर बनी रहती हो उन्हें भी आंवले का सेवन करना चाहिए। सुबह निहार मुँह रोज आंवले का मुरब्बा खाएं।

यह भी पढ़ेदूध पीने के तुरन्त बाद ये ना खाए हो सकती है आपकी मौत !

यह भी पढ़ेकाले घेरे (DARK CIRCLES) कैसे हटाए : घरेलु नुस्खे

आंवले का उपयोग कैसे करें –

  • आंवले (Amla Ke Fayde) का उपयोग जूस, मुरब्बा और चूर्ण के रूप में कर सकते हैं।
  • साथ ही अन्य फलों के साथ हेयर मास्क बनाने के लिए भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
  • त्वचा पर लगाने के लिए और रंगत में सुधार के लिए इसका फेस मास्क बनाकर भी उपयोग किया जा सकता है।
  • इसका पेस्ट सूजन वाले स्थान पर लगाने के लिए भी उपयोग में लाया जा सकता है।

आंवला खाने का सही समय और सही तरीका –

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि आंवले को जूस, चूर्ण और मुरब्बे के रूप में लिया जा सकता है। 

  • सुबह सुबह खाली पेट आंवले का जूस पीने के फायदे अत्यन्त प्रभावी माने जाते हैं। 
  •  आंवले के चूर्ण को सुबह खाली पेट या रात में सोने से पहले गरम पानी के साथ लेना फायदेमंद होता है।
  • आंवले का मुरब्बा सुबह खाली पेट गरम पानी के साथ खाना चाहिए।

आंवले से होने वाले कुछ नुकसान –

  • आँवले (Amla Ke Faydeका प्रयोग कुछ लोगों में ब्लीडिंग का रिस्क बढ़ा सकता है। इसलिए इसे खाने के साथ सावधानी जरूरी है। 
  • आँवले के ज्यादा प्रयोग से ब्लड शुगर का लेवल घटता है जिससे शुगर रोगियों की दवा में परिवर्तन संभव है। 
  • किसी भी प्रकार की सर्जरी से लगभग दो हफ्ते पहले से आँवला का प्रयोग बंद कर देना चाहिए। सर्जरी के बाद भी आँवला का प्रयोग कुछ समय तक नही करना चाहिए क्योंकि ये ब्लीडिंग को बढ़ा सकता है।
  • आँवला ज्यादा खाने से त्वचा का मॉइश्चर खो सकता है और स्किन ड्राई हो सकती है।
  • आँवला के ज्यादा सेवन से सिर की त्वचा भी रूखी हो सकती है। जिसके कारण डैंड्रफ होने की संभावना रहती है।
  •  ज्यादा मात्रा में आँवला खाने से बाल काले होते तो हैं, लेकिन कड़े हो सकते हैं। सिल्की बालों की चाह रखने वालों को इससे परेशानी हो सकती है।

यह भी पढ़ेआइए सीखते हैं अलग अलग STYLE की साड़ी पहनना

यह भी पढ़ेबालों का पूरा MAKE UP कैसे करें ?

Healthy आंवला Recipes –

 1.आंवला चूर्ण बनाने की विधि : –

  •  मोटे पके हुए  आंवलो को सबसे पहले उबलते पानी में 5 मिनट के लिए डाले। अब देखें कि इनकी फाँकें अलग होने जैसी हो गई हैं या नहीं। यदि फॉकें अलग नहीं हों तो कुछ समय और उबलने दें, फिर निकालकर सादे पानी में 10 मिनट के लिए रख दें।
  • अब इसके बाद आंवले की फॉकों को अलग करके धूप में सुखा दें। इसके बाद गुठलियों को फेंक दें। जब ये पूरी तरह सूख जाये तब इनको पीस लें।
  • अब आपका आंवले का चूर्ण तैयार हो गया। यह चूर्ण आँवलों के जितना ही लाभदायक होता है।

आंवले के चूर्ण के फायदे और उपयोग –

  • यह चूर्ण एक चम्मच सुबह – शाम लेने से शरीर की Immunity मजबूत होती है और रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है।
  • आंवले के चूर्ण को दाल, चटनी या सब्जी आदि में खटाई के रूप में कम मात्रा में डाला जा सकता है। जो इमली, अमचूर आदि से स्वास्थ्य की द्रष्टि से कहीं ज्यादा बेहतर माना जाता है।
  • गर्मी के दिनों में इसे ठण्डे पानी में एक चम्मच या अपनी इच्छानुसार  मिलाकर कोल्ड ड्रिंक्स (शीतल पेय) की तरह पिया जा सकता है। स्वाद बढ़ाने के लिए काला नमक व भुना-हुआ जीरा या जलजीरा मिलाकर ले सकते हैं।

 2.आंवले से शरबत बनाने की विधि : –

  • सामग्री – आधा किलो चीनी, 10 से 12 चमम्च आंवलो का ताजा रस या पाउडर, 150 ml पानी।
  • विधि – चीनी, पानी और आंवला के रस को मिलाकर एक बार उबाल दें। 
  • अब स्टील के बर्तन में इसे छानकर, ठण्डा कर के खाली बोतलों में भरकर रखें।

यह भी पढ़ेघर पर MANICURE – PEDICURE कैसे करें?

यह भी पढ़ेअब घर पर ही MAKE-UP करना सीखें

आंवला पाचक बनाने की विधि –

  • आंवलो को 10 मिनट उबालकर  उसकी फांके अलग कर लें। अब इन फॉकों को थोड़ा सुखा लें।
  • अब इन पर थोड़ा नीबू का रस निचोड़कर मिलाकर फिर से सुखा लें।

आंवला मुरब्बा बनाने की विधि : –

  • सबसे पहले ताज़े आंवलों को पानी या भाप में उबालकर इसकी फाँकें (Slices)  कर लें।

 मुरब्बा बनाने के लिए सामग्री –

एक किलो आँवले की फाँकें, चीनी एक किलो, पानी आधा लीटर। 

  • सबसे पहले एक किलो चीनी के तीन भाग कर लें। एक भाग चीनी को पानी में उबालें। जब पानी में चीनी पूरी तरह से घुल जाये तब इसे कपड़े से छानकर दुबारा उबालें। 
  • फिर इसमें ऑवलों (Amla Ke Fayde) की फाँकों को डालकर दुबारा उबाल आने तक पकायें। अब गैस बन्द कर के ठण्डा होने दें और किसी जाली से ढककर रात भर के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • अगले दिन फाँकों को अलग कर चाशनी में दूसरा भाग चीनी का मिलाकर सिर्फ एक बार  उबालें। उबाल आ जाने पर आंवले की फाँकें (जो चाशनी से अलग की थी) एक  उबाल आने तक पकायें। इसके बाद गैस बन्द कर दे और  इन्हें  ठण्डा होने दें और जाली से ढककर रात भर के लिए फिर  छोड़ दें।
  • तीसरे दिन फॉकों को चाशनी से अलग कर लें और खाली चाशनी में बचा तीसरा भाग चीनी का मिलाकर एक उबाल दें। अब आंवले को चाशनी से अलग की हुई फाँकें डालकर फिर से  उबालें और 5 मिनट तेज आंच पर एक तार की चाशनी बनने तक उबलने दें।
  •  अब इसे हल्का गुनगुना होने पर काँच के जार में भरकर ढक्कन लगा दें। 

यह भी पढ़ेआंखों की रोशनी कैसे बढ़ाएं ?

यह भी पढ़ेBLACK PEPPER के चौका देने वाले फायदे

आंवले के अचार की रेसिपी :

अचार बनाने के लिए सामग्री –

  • आधा kg आंवला
  • 175 ग्राम नमक
  • 120 ग्राम सरसों का तेल
  • आधा टेबल स्पून मिर्च पाउडर
  • आधा टेबल स्पून सरसों
  • 1 टेबल स्पून हींग

अचार बनाने की विधि –

  • सबसे पहले आंवले को पानी में डालकर उबाल लें। करीब 15 मिनट के बाद जब आंवले का छिलका मुलायम लगने लगे, तो इसे छन्नी में निकाल लें।
  •  अब इसके बाद एक पैन में तेल गर्म करें। उसमें सरसों, हींग और मिर्च पाउडर डाल दें।
  •  इसे अच्छी तरह मिलाकर इसमें आंवला और नमक डाल दें।
  •  अब इसे स्टर फ्राई करें, और जब ये अच्छी तरह मिल जाए और आंवलों पर अच्छे से मसाला लग जाए, तो इसे गैस से उतार कर ठंडा कर लें ।और इसे साफ जार में भर कर रख दें।

यह भी पढ़े‘विश्व योग दिवस’ क्यों मनाया जाता है और योग के फायदे क्या – क्या है ?

यह भी पढ़ेघर पर HAND SANITIZER कैसे बनाएं ?

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो इसे लोगों को शेयर करें। क्योंकि ज्ञान बांटने से बढ़ता है और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर ले जिससे आपको हमारे नए पोस्ट की Notification सबसे पहले मिले और कोई भी पोस्ट Miss ना हो। अगर आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये। हम आपके प्रश्नो का उत्तर अवश्य देंगे। धन्यवाद !!

और पढ़े

About the author

Fuggy Pandey

Fuggy Pandey

I am a content writer who specialized in writing about Facts, Technology, Life Hacks, Biography and Trending content. I'm working with a great team and have enjoyed the opportunities they have given me to help their knowledge grow.

View all posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *