clarified butter
Image Source : Photo by Megumi Nachev on Unsplash

नाक में घी डालने के अचूक फायदे – Ghee Benefits in Hindi

रात को सोते वक़्त नाक में देशी घी (Desi Ghee Benefits) की सिर्फ़ 2 बूँदे डालने के अनेक फ़ायदे होते हैं। आज हम आपको रात को सोते वक़्त नाक में देशी घी (Desi Ghee Benefits) की सिर्फ़ 2 बूँदे डालने के  फ़ायदो के बारे में बताएँगे। देशी गाय के घी (Desi Ghee Benefits) में ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो और किसी चीज़ में नहीं मिलते। यहाँ तक की इसमें ऐसे Micro-nutrients होते हैं जिनमें कैंसर युक्त तत्वों से लड़ने की क्षमता होती है। देशी गाय का घी शारीरिक, मानसिक व बौद्धिक विकास एवं Prevention of Disease के साथ Environmental Purification का एक महत्त्वपूर्ण साधन है। प्रतिदिन रात को सोते वक़्त नाक में 2 – 2 बूँद गाय के देशी घी डालना हमें बहुत सारे लाभ (Desi Ghee Benefits) देता है। 

नाक से ही क्यों डालें घी (Desi Ghee Benefits)-

  • जब हम शुद्ध देसी घी को मुंह से खा सकते हैं तो नाक से ही लेने की जरूरत क्यों पड़ी। 
  • आचार्य वाग भट्ट ने इंसान के शरीर को एक उल्टे पेड़ से Compare किया है जिसमें इंसान का सिर Root की तरह काम करता है बाकी का पूरा शरीर Branches की तरह काम करता है यानी की हमारे शरीर की सारी इन्द्रियां हमारे सिर में आकर मिलती हैं।
  • आचार्य चरक के हिसाब से इंसान के सिर का जो Main Entry Gate होता है वो नाक होती है।
  • जो दवा हमारे नाक के जरिए हमारे शरीर में पहुंचाई जाती है तो वो हमारे दिमाग के Higher Centre पर काम करती है जो हमारे शरीर के Neurological, Endocrinal और Circulatory Functions Control करते हैं जिसकी वजह से हमारे शरीर के कंधे के ऊपर होने वाली सारी परेशानियां बल्कि पूरे शरीर की परेशानियां दूर होती हैं। अगर हम शुद्ध घी हम अपनी नाक से लेते हैं तो इसके 100 गुना फायदे होते हैं। 

यह भी पढ़ेनाभि में तेल डालने से होने वाले फायदे

नस्य कर्म क्या होता है –

(Desi Ghee Benefits)

  • इंसान के शरीर के जितने भी Toxins होते हैं जो किसी भी तरह की  बीमारी पैदा करते हैं या पैदा कर सकते हैं उन सभी Toxins  को बाहर  निकालने के लिए किसी भी Ayurvedic Medicine को Solid, Liquid or Gaseous Form में शरीर के अंदर नाक के जरिए अंदर पहुंचाया जाता है।
  • नस्य कर्म का इस्तेमाल गर्दन के ऊपर के हिस्से में होने वाली बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। 
  • इसके कुल 6 फायदे बताए गए हैं – 
    1. दवाई को शरीर में Absorb होने के लिए लिवर से Pass नहीं होना पड़ता उसे Digest नहीं करना पड़ता ये सीधे उसी जगह पर अपना असर दिखती है जहां पर उसकी जरूरत है।
    2. दवाई बहुत तेज़ी से अपना असर दिखाना शुरू कर देती है।
    3. हमारी नाक में बहुत सारी Blood Vessels होती हैं जिसकी वजह से दवाई पूरे शरीर में बहुत अच्छी तरह से Circulate हो पाती हैं।
    4. जिसकी वजह से जो दवा हम ले रहे हैं उसकी Bioavailability बढ़ जाती है। मतलब कितना लिया था और कितना अंग लगा।
    5. दवाई की बहुत छोटे अनुपात में इस्तेमाल से बड़ा फायदा मिलता है। इसका उदाहरण आप अस्थमा के मरीज जो Inhaler इस्तेमाल करते हैं उससे समझ सकते हो। Inhaler  उनको बहुत कम Quantity में इस्तेमाल करनी होती है और आराम जल्दी मिलता है वहीं दवा ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करते है और आराम होने में ज्यादा समय लेता है। 
    6. अगर कभी आप ज्यादा क्वांटिटी ले लेते हो तो आप उसे थूक भी सकते हो।

यह भी पढ़ेघर पर HAND SANITIZER कैसे बनाएं ?

नाक में देशी घी की सिर्फ़ 2 बूँदे डालने के  फ़ायदे (Desi Ghee Benefits)

(Desi Ghee Benefits)

हार्ट अटैक : 

हार्ट अटैक जिस व्यक्ति को हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाइ खाने की मनाही है तो गाय का घी नाक में डालें, Heart System मज़बूत होता है।

Psoriasis (Skin Disorder) और त्वचा सम्बन्धी हर चर्म रोगों में चमत्कारिक :

Psoriasis गाय के घी को ठन्डे जल में फेंट ले और फिर घी को पानी से अलग कर ले यह प्रक्रिया लगभग सौ बार करे और इसमें थोड़ा सा कपूर डालकर मिला दें। इस विधि द्वारा प्राप्त घी एक असर कारक औषधि में परिवर्तित हो जाता है जिसे त्वचा सम्बन्धी हर चर्म रोगों में चमत्कारिक कि तरह से इस्तेमाल कर सकते है। यह Psoriasis के लिए भी कारगर है।

बाल झडना :

बाल झडना गाय का घी नाक में डालने से बाल झडना समाप्त होकर नए बाल भी आने लगते है।

आँखों की रोशनी बढ़ती है : 

  • एक चम्मच गाय का शुद्ध घी नाक में डालें या एक चम्मच घी और  एक चम्मच बूरा और 1/4 चम्मच पिसी काली मिर्च इन तीनों को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय चाट कर ऊपर से गर्म मीठा दूध पीने से आँखों की ज्योति बढ़ती है। 
  • इससे आंखों की चार सबसे Common परेशानियां जैसे कि रूखापन, सूखापन, जलन, धुंधलापन  जैसी परेशानियां बहुत जल्दी दूर होना शुरू हो जाती हैं।
  • इसके अलावा अगर आप अपना ज्यादा समय कंप्यूटर की स्क्रीन पर बिताते हैं तो आपको नाक में घी जरूर डालना चाहिए।

कोमा से निकाले :

  • कोमा गाय का घी नाक में डालने से कोमा से बाहर निकल कर चेतना वापस लौट आती है।

हथेली और पांव के तलवो में जलन :

  •  हथेली और पांव के तलवो में जलन होने पर गाय के घी की मालिश करने से जलन में आराम आयेगा।

कफ की शिकायत :

  • कफ की शिकायत गाय के पुराने घी से बच्चों को छाती और पीठ पर मालिश करने से कफ की शिकायत दूर हो जाती है।

कैंसर से लड़ने की अचूक क्षमता : 

  • कैंसर गाय का घी न सिर्फ कैंसर को पैदा होने से रोकता है और इस बीमारी के फैलने को भी आश्चर्यजनक ढंग से रोकता है। देसी गाय के घी में कैंसर से लड़ने की अचूक क्षमता होती है।

Nervous System में  नई जान डालता है :

  • जब हम अपनी नाक में घी डालते है तो ये जाकर हमारे Nervous System, Circulatory System or Endocrinal System  को  Nourish करता है। मतलब ये हमारे Nervous System में नई जान फूंक देता है।

दिमाग तक पंहुचाये : 

  • नाक में घी हमारे दिमाग को भी Nutrition  पहुंचाने का काम करता है।

Detoxify करता है :

  • शुद्ध घी बहुत ही बेहतरीन Antibacterial और Antiviral होता है इसलिए ये हमारे शरीर के गर्दन के ऊपर के भाग को Detoxify करता है।

Other Benefits :

  1. सिर दर्द, चक्कर आना, Nervousness, Anxiety Disorder जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।
  2. नाक में घी डालने का सबसे बड़ा फायदा उन लोगों को होता है जिनको अनिद्रा की समस्या होती है।
  3. Shizophrenia और Epilepsy यानी मिर्गी के मरीजों को नाक में घी जरूर डालना चाहिए।
  4. कान से जुड़ी हुई सभी परेशानियां जैसे कान में झनझनाहट होना, सीटी जैसी आवाज आना, किसी भी तरह का दर्द होना या चक्कर आना ये सभी परेशानियां जड़ से खत्म हो जाती हैं।
  5. जिन्हें साल भर जुकाम रहता है, जिन्हें साइनस की समस्या रहती है, जिन्हें मौसमी एलर्जी हो जाती है, जिनके गले में सूजन रहती है, खुस्की, गले में दर्द, टॉन्सिल्स की समस्या, नाक से खून बहना, मुंह में छाले होने पर सिर्फ इतना करना है कि अपनी नाक में शुद्ध घी डालना है।
  6. इसके अलावा जो लोग तुतलाते या हकलाते हैं, या फिर जिनके गले में खराश रहती है या ऐसे Profession  वाले लोग जिनको ज्यादा देर तक बोलना या गाना पड़ता है ऐसे लोगो को भी नाक में घी डाल लेना चाहिए इससे क्या होता है कि आवाज बहुत ज्यादा Crystal Clear हो जाती है।
  7. दांतो में ख्ट्टा, ठंडा या गरम लगता है तो आपको सिर्फ तीन महीने नाक में घी डालना है आपके दांत बहुत जल्दी ठीक हो जाएंगे।
  8. मुंह से बदबू आने कि समस्या भी दूर हो जाती है।

यह भी पढ़ेपैदल चलना क्यों जरुरी है और इसके फायदे क्या है ?

नाक में घी कब डालना चाहिए :

(Desi Ghee Benefits)

  • आयुर्वेद के अनुसार सर्दियों में नाक में घी  दोपहर में बसंत में सुबह गर्मी में शाम को और वर्षा ऋतु में जब सूरज दिख रहा हो तब डालना चाहिए।
  • सुबह बिस्तर छोड़ने के पहले, व्यायाम के बाद और घर से बाहर निकलने के पहले का समय नाक में घी डालने का सबसे अच्छा समय बताया गया है।

 कितना घी नाक में डालना चाहिए :

  • आपको अपनी दोनों nostrils में 2-2 या 4-4 बूंदे शुद्ध घी डालना चाहिए।
  • 50 kg से कम  के लोग 2-2 बूंदे।
  • 50 kg से ज्यादा के लोग 4-4 बूंदे।

 कौन कौन डाल सकते हैं नाक में घी :

आयुर्वेद के अनुसार जिनकी उम्र 7 से 80 साल है वो सभी अपनी नाक में घी डाल सकते हैं।

कैसे डालें घी नाक में –

देशी घी को लेट कर नाक में डाले और हल्का सा खिंच ले। और 5 मिनट लेते रहे इसे प्रतिमर्श नस्य या Protoplasm कहा जाता है।

नस्य ना लेने का समय : 

  • बीमार पड़ने पर,
  • आघात होने पर या बहुत थका हुआ होने पर, 
  • वर्षा ऋतू में जब सूर्य ना हो, 
  • गर्भवती या प्रसव के बाद, 
  • बाल धोने के बाद, 
  • भूख या प्यास लगने पर, 
  • अजीर्ण होने पर, 
  • Immigration, Settlement या Virechan के बाद।

और पढ़ेएक अच्छी किताब का चयन कैसे करें ?

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो इसे लोगों को शेयर करें। क्योंकि ज्ञान बांटने से बढ़ता है और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर ले जिससे आपको हमारे नए पोस्ट की Notification सबसे पहले मिले और कोई भी पोस्ट Miss ना हो। अगर आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये। हम आपके प्रश्नो का उत्तर अवश्य देंगे। धन्यवाद !!

About the author

Fuggy Pandey

Fuggy Pandey

I am a content writer who specialized in writing about Facts, Technology, Life Hacks, Biography and Trending content. I'm working with a great team and have enjoyed the opportunities they have given me to help their knowledge grow.

View all posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *