Rumalaya Tablet in Hindi – उपयोग, खुराक, दुस्प्रभाव, फायदे

यदि आप के जोड़ों में दर्द होता है और यदि आप गठिया यानी arthritis जैसी समस्याओं से परेशान हैं और इनसे छुटकारा पाना चाहते हैं तो हमारी यह पोस्ट आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकती है, क्योंकि आज हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसी आयुर्वेदिक टैबलेट के बारे में जो जोड़ों से जुड़ी समस्याओं से आपको छुटकारा दिला सकती है।

आज हम बात करने जा रहे हैं Himalaya की “Rumalaya Tablet” के बारे में जो जोड़ो से संबंधित रोगों में बेहद लाभदायक होती है। इस पोस्ट में हम इसके बारे में विस्तार से बात करेंगे और इससे जुड़े आपके सभी सवालों के जवाब देंगे। हम जानेंगे कि यह टैबलेट किस काम आती है, यह किन-किन चीजों से बनती है, इसकी कीमत कितनी है, इसके क्या-क्या फायदे और नुकसान हैं, इसका सेवन कैसे करना चाहिए और इसके क्या क्या साइडइ फ़ेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं।

rumalaya tablet in hindi
rumalaya tablet in hindi
Contents show

Rumalaya Tablet क्या है? Rumalaya Tablet In Hindi (2022)

रुमालया टैबलेट एक ऐसी विशेष टैबलेट है जो मुख्य रूप से दो आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों, सहजन (Drumstick) औऱ गिलोय (Indian Tinospora) के खास मिश्रण से बनाई जाती है।यह टैबलेट भारत की एक मशहूर फार्मा कंपनी “हिमालया हर्बल हेल्थकेयर लिमिटेड” के द्वारा बनाई जाती  है।

हिमालयारुमालया एक हर्बलसप्लीमेंट है जिसका उपयोग गठिया यानी arthritis और जोड़ों से जुड़ी अन्य कई बीमारियों के ईलाज के लिए किया जाता है।

सहजन में सूजन और दर्द को दूर करने के गुण पाए जाते हैं और यह जोड़ों में दर्द का इलाज करने और जोडों में रक्त परिसंचरण यानी ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करने में मदद करता है।

इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला गिलोय, बहुत ही अच्छा एन्टी- इन्फ्लामेट्री तत्व माना जाता है और यह गठिया जैसे जोड़ों में होने वाली समस्याओं के इलाज में बहुत फायदेमंद होता है।

इस प्रकार रुमालयाटैबलेट का सेवन करके किसी भी प्रकार की जोड़ों की समस्या में राहत पाई जा सकती है।

Rumalaya Tablet की सामग्री? Rumalaya Tablet Material In Hindi

रुमालया टैबलेट बहुत सारी जड़ी-बूटियों से मिकलर बनाई एक बहुत शक्तिशाली और असरकारक दवा है जो जोड़ो के दर्द में बहुत आराम देती है। रुमालयाटैबलट में पाई जाने वाली सामग्री में से दो जड़ी बूटियां बहुत महत्वपूर्ण हैं और वो दो जड़ी बूटियां हैं शिगरु और गिलोय।

रुमालयाटैबलेट में पाई जाने वाली सामग्री नीचे बनाई गई तालिका में विस्तार से लिखी गयी है-

S. N.टक(Components)मात्रा(Quantity)
1महारसन्दीक्वाथ130mg
2मंजिष्ठा (Rubiacordifolia)38mg
3शिगरू (MoringaPterygosperma)32mg
4गोक्षुरा (Tribulusterrestris)32mg
5गिलोय/गुडुची (Tinosporacordifolia)20mg
6महायोगराज गुग्गुल0.324g  
7शंख भस्म130mg
8शिलाजीत32mg  
9लताकस्तूरी (Hibiscus abelmoschus)20mg
10स्वर्णमाशिक भस्म10mg

महारस्नादिक्वाथ– यह एक क्वाथ होता है जो बहुत सारी जड़ी-बूटियों जैसे- अश्वगंधा, गोखरू, सौंफ, बच्छनाभ आदि को मिलाकर बनाया जाता है और यह गठिया, फाइलेरिया और लकवा जैसी बीमारियों को ठीक करता है।

मंजिष्ठा– यह एक बेहद उपयोगी जड़ी-बूटी है जिसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाओं में बहुत ज्यादा किया जाता है क्योंकि यह कई सारी बीमारियों के इलाज़ में फ़ायदेमंद होती है।

शिगरू/सहजन – शिगरु एक ऐसी जड़ी-बूटी है जिसमें एन्टी-इन्फ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं। यह जोड़ों में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने का काम भी करता है, जो गठिया और गठिया से संबंधित जोड़ों के दर्द में काफीफायदेमंद होता है।

गोक्षुरा– गोक्षुरा को गोखरू के नाम से भी जाना जाता है और  इस जड़ी-बूटी स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होती है। यह गठिया के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

गिलोय/गुडुची– गिलोय एक बहुत अच्छी एन्टी-इन्फ्लामेट्री जड़ी-बूटी है जो जोड़ों में होने वाले इन्फ्लेमेशन को कम करने में सहायक होता है।

महायोगराज गुग्गुल– यह एक पाउडर होता है जो कई सारी जड़ी-बूटियों जैसे- गुग्गुल, चित्रक, अदरक, पिप्पली, त्रिफला, अभ्रक भस्म, लौह भस्म, हींग, नाग आदि को मिलाकर बनाया जाता है। यह गठिया और अन्य जोड़ सम्बंधी रोगों में फायदेमंद साबित होता है।

शंख भस्म– यह एक पाउडर होता है, जो शंख की राख से बनाया जाता है। यह कैल्शियम का बहुत ही अच्छा सोर्स होता है और हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है।

शिलाजीत– यह एक बेहद शक्तिशाली आयुर्वेदिक हर्ब है। इसमें भरपूर मात्रा में एन्टी-ऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं। यह शरीर को ताकत देता है और शरीर में ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है।

लताकस्तूरी– यह एक बेहद गुणकारी औषिधि है। यह अनेक रोगों को दूर करने में फायदेमंद होता है। इसका इस्तेमाल सूजन को दूर करने के लिए किया जाता है।

स्वर्णमाशिक भस्म– यह शुद्ध सोने की भस्म यानी राख होता है और आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल कई रोगों को ठीक करने में किया जाता है।

rumalaya tablet uses in hindi
rumalaya tablet uses in hindi

Rumalaya टैबलेट के उपयोग? Rumalaya Tablet Uses In Hindi

Rumalaya tablet  दर्द मे   अत्यंत हितकारी औषधि मानी गयी है। जोड़ो के पुराने दर्द के लिये इसे लाभदायक माना जाता है। गठिया, शाटिका, जैसे रोगों में  भी औषधि उपयोग की जाती है। Tablet के उचित सेवन और पूरी परहेज से यह जल्दी जोड़ो एवं गठिया, शाटिका के दर्द में राहत प्रदान करती है

Rumalaya Tablet के काफी सारे उपयोग हैं इसका इस्तेमाल कई तरह के गठिया संबंधित रोगों (Arthritic Disorders) और Traumatic Inflammatory Conditions को ठीक करने के लिए किया जाता है।

विभिन्न Arthritic Disorders जिनके इलाज़ के लिए Rumalaya Tablet का इस्तेमाल किया जा सकता है वो नीचे लिखे गए हैं-

  • Rheumatoid Arthritis
  • Cervical spondylosis
  • Lumbar spondylosis
  • Osteoarthritis
  • Gout
  • Frozen shoulder
  • Arthralgia

ऊपर लिखी कई बीमारियों के अलावा Rumalaya Tablets का इस्तेमाल कई सारी Traumatic Inflammatory Conditions को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। ऐसी कुछ conditions नीचे लिखी गयी हैं-

  • Bursitis
  • Capsulitis
  • Fibrositis
  • Myositis
  • Sciatica
  • Synovitis
  • Tenosynovitis

Rumalaya Tablet के फायदे? Rumalaya Tablet Benefits in Hindi

Rumalaya Tablet का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि यह इन्फ्लेमेशन और जोड़ों में होने वाले दर्द में राहत देता है। इस टैबलेट के इस्तेमाल से निम्नलिखित फ़ायदे होते हैं-

  1. इसके इस्तेमाल से गंठिया और इससे संबंधित बीमारियों  में आराम मिलता है।
  2. इस टैबलेट का इस्तेमाल करने से जोड़ो और मांसपेशियों में मजबूती आती है।
  3. यह टैबलेट सूजन को कम करने में भी फ़ायदेमंद होती ही।
  4. इस टैबलेट को लेने से शरीर के सभी जोड़ो में रक्त का प्रवाह यानी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।
  5. इस टैबलेट में कैलशियम और फॉस्फोरस अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को स्वस्थ रखता है।
  6. यह  औषधि पूर्णतः आयुर्वेदिक है अर्थात इसमे किसी भी प्रकार के केमिकल का प्रयोग नहीं किया गया है। जिस कारण इसके कोई भी साइडइफेक्ट्स नहीं है।

Rumalaya Tablet के नुकसान? Side Effects of Rumalaya Tablet in Hindi

Rumalaya tablet पूरी तरह से एक आयुर्वेदिक औषधि है और अभी तक इसके कोई भी साइडइफेक्ट्स सामने नही आये हैं। लेकिन इस दवा को लेते हैं और सही से परहेज नहीं करते हैं तो यह tablets ठीक तरह से काम नहीं कर पाती हैं और दर्द में कम आराम मिलता है। इसलिए अगर आप चाहते हैं कि इस दवा से आपको अच्छे रिजल्ट मिलें तो आपको डॉक्टर द्वारा बताया गया परहेज अच्छे ढंग से करना चाहिए।

Read Also : Calcium Vitamin D3 Tablet In Hindi – लाभ,फायदे,उपयोग (2022)

Rumalaya Tablet की ख़ुराक? Rumalaya Tablet Dosage in Hindi

दोस्तों किसी भी प्रकार की दवा का सेवन करने से पहले हमें किसी डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवा को नहीं खाना चाहिए। हालांकि Rumalaya Tablet का कोई साइडइफ़ेक्ट नहीं है फिर भी इसे लेने से पहले डॉक्टर से जरूर बात कर लें।

आप Rumalaya Tablet की 2 Tablets दिन में दो बार, या 1 Tablet दिन में दो बार ले सकते हैं या फिर आप आपके डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक के हिसाब से इसका सेवन कर सकते हैं। आप नीचे दी गई तालिका से इसकी खुराक के बारे में जान सकते हैं-

म्रख़ुराक
बच्चे (Childrens)1 गोलीदिनमेंदोबार
वयस्क (Adults)2 गोलियाँदिनमेंदोबार
बुजुर्ग (60 सालसेअधिकउम्रवाले)2 गोलियांदिनमेंदोबार

Note: एक दिन में कुल 6 गोलियों से अधिक गोलियों का सेवन न करें। दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Rumalaya Tablet का सेवन खाना खाने के बाद करना होता है। Rumalaya tablet का सेवन गर्म पानी के साथ कर सकते है। बेहतर results के लिए अदरक का पानी, अदरक का काढा उत्तम माना जाता है। गुनगुने दूध के साथ सेवन करने से भी बेहतर results देखने को मिलते हैं।

Rumalaya Tablet से सावधानियाँ? Precautions of Rumalaya Tablet in Hindi

दोस्तों Rumalaya Tablet का इस्तेमाल करते वक़्त कुछ सावधानियां रखनी होती हैं जो नीचे दी जा रही हैं-

  1. बिना डॉक्टर के परामर्श के इस दवा को न लें।
  2. दवा को हमेशा expiry date चेक करने के बाद ही लें।
  3. इस दवा को लेने के साथ आपको अपने खाने-पीने को लेकर कुछ परहेज करने होते हैं। दवा के साथ अच्छे से परहेज़ करें।
  4. टैबलेट के साथ आपको अधिक कठोर और भारी खाना नहीं खाना चाहिए। हल्का और आसानी से पचने वाला भोजन करें।
  5. खाने की ऐसी चीज़ें ना खाएं जिनकी तासीर ठंडी होती है , जैसे- चावल, छांछ, मूली आदि। इनसे जोड़ो का दर्द बढ़ सकता है।
  6. गरम तासीर वाला खाना खाएं जैसे- अदरक, लहसुन, लॉन्ग आदि।

Rumalaya Tablet किन लोगों को नहीं लेनी चाहिए? Who Should Not Take Rumalaya Tablet in Hindi

ऐसे लोग जिन्हें नीचे लिखी समस्याएं होती हैं उन्हें Rumalaya Tablet लेने से पहले डॉक्टर से जरूर बात करनी चाहिए-

  1. जिस व्यक्ति के शरीर मे पित्त दोष होता है या पित्त प्रवृत्ति अधिक होती है।
  2. जिस व्यक्ति को पेट संबंधी समस्याएं होती हैं।
  3. जिन लोगों को heartburn की समस्या होती है।
  4. यदि कोई महिला गर्भवती है या जो महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान करवाती हैं।

Rumalaya Tablet Price (कीमत)? Rumalaya Tablet Price In Hindi

दोस्तों रुमालयाटैबलेट एक बेहद अच्छी दवा तो है ही लेकिन इसके साथ ही यह काफी अच्छे प्राइस में भी उपलब्ध है। इसके इतने फायदेमंद होने के बाद भी यह बहुत ज़्यादा महँगी नहीं है।

दोस्तों आपको यह टैबलेट अपने नज़दीक के किसी भी मेडिकलस्टोर यानी दवाइयों की दुकान पर मिल जाएगी और इसके 1 डिब्बे की कीमत ₹150 है और इसके 1 डिब्बे में 60 टैबलेट्स होती हैं।

Rumalaya Tablet ऑनलाइन कहाँ से खरीदें? Buy Rumalaya Tablet Online In Hindi

दोस्तों यदि यह आपको आपके नजदीकी केमिस्टशॉप्स पर नहीं मिल रही है या यदि आप बाहर दुकानों से इसे नहीं खरीदना चाहते हैं तो आप इसे घर बैठे ऑनलाइन आर्डर कर सकते हैं। आपको इंटरनेट पर ऐसी कई सारी वेबसाइट्स मिल जाएंगी जिनके जरिये आप Rumalayaटैबलेट को ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

क्योंकि Rumalaya टैबलट “हिमालया हर्बल हेल्थ केयर लिमिटेड” कंपनी द्वारा बनाई जाती है, तो आप इसे हिमालया की ऑफिशियल वेबसाइट से खरीद सकते हैं, जिसका लिंक ये रहा- https://himalayawellness.in/

यदि आप इस वेबसाइट की बजाय किसी और वेबसाइट से इसे ख़रीदना चाहते हैं तो आप नीचे लिखी वेबसाइट्स में से किसी भी वेबसाइट पर जाकर इसे ऑनलाइन आर्डर कर सकते हैं-

Website का नामRumalaya Tablet लिंक
Himalaya  https://himalayawellness.in/products/rumalaya   
Amazonhttps://amzn.eu/d/g5Wa02e
1mghttps://www.1mg.com/otc/Rumalaya_tablet 
Netmedshttps://m.netmeds.com/non-prescriptions/rumalaya-tablet-60-s4.  
Pharmeasyhttps://m.netmeds.com/non-prescriptions/rumalaya-tablet-60-s4.    
Apollo Pharmacyhttps://www.apollopharmacy.in/otc/himalaya-rumalaya-tablet 

Rumalaya और rumalaya forte tablet के बीच अंतर – rumalaya and rumalaya forte Difference in hindi

दोस्तों बहुत लोगो के मन में यह सवाल बहुत बार आता है कि rumalaya tablet और rumalaya forte tablet एक ही औषधि होती है या अलग -अलग ,और बहुत से लोग online search भी करते हैं। तो दोस्तों नीचे  दी जानकारी से हम आपको rumalaya और rumalaya forte टैबलेट के बीच के अंतर को बतायेंगे।पहले तो आप ये जान लीजिये कि ये दोनो टैबलेट अलग – अलग मिलती हैं। और नाम के जैसे ही इनके काम भी कहीं कही पर अलग हो जाते हैं। 

Rumalaya tablet – 

  1. जैसे की दोस्तो शुरू में ही बताया था,  Rumalaya tablet मुख्य रूप से जोड़ो व गठिया के दर्द के लिए ली जाती है। 
  2. इसके एक डिब्बे में 60 गोलियां होती है और उस डिब्बे की कीमत 120 रुपये होती है। 
  3. इसका सेवन डाक्टर से पूछ कर बच्चे भी कर सकते हैं। 
  4. आयुर्वेद के अनुसार यह दवाई चोट के सूजन या दर्द के सूजन को कम करने में असमर्थ होती है। 
  5. एक दिन में 4 से 6 गोलियों का ही सेवन करना चाहिए। 

Rumalaya forte tablet – 

  1. Rumalaya forte टैबलेट जोड़ो के तेज दर्द, और  मांशपेशियो में खून के सही बहाव के लिए प्रयोग की जाती है। 
  2. इस दवाई के एक पत्ते में भी 60 गोलियां ही होती हैं। लेकिन इसका prise 160 रुपये होता है। यह rumalaya टैबलेट से महंगी होती है
  3. Rumalaya forte टैबलेट को बच्चो की पहुँच से दूर रखना चाहिए। 
  4. Rumalaya forte टैबलेट चोट से होने वाली सूजन,  दर्द के सूजन, चोट के दर्द में भी कारगर साबित होता है। 
  5. एक दिन में 2 से 4 गौलीयो का ही सेवन करना चाहिए।

दोस्तों ऊपर दी जानकारी से आप Rumalaya और Rumalaya forte टैबलेट के बीच के अंतर को समझ ही गए होंगे। और यहाँ मिली जानकारी से आपको जरूर ही लाभ मिलेंगे।

Rumalaya Tablet के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रश्न 1- Rumalaya Tablet क्या है?

उत्तर- Rumalaya Tablet एक बेहद उपयोगी आयुर्वेदिक दवाई है जिसका इस्तेमाल गठिया (Arthritis) और अन्य जोड़ों से संबंधित बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। 

प्रश्न 2- Rumalaya tablet कितने समय में expire हो जाती है?

उत्तर- किसी भी टैबलेट की एक्सपायरीडेट उस पर लिखी होती है आप उसे देख कर यह पता कर सकते हैं कि वह कब expire होगी।   Rumalaya Tablet इसके बनने यानी मैन्युफैक्चरिंगडेट के 2 साल बाद इस्तेमाल नहीं करनी चाहिये।

प्रश्न 3- Rumalaya Tablet का सेवन कैसे करें?

उत्तर- आप 2 टैबलेट एक दिन में दो बार या 1 टैबलेट दिन में दो बार ले सकते हैं लेकिन बेहतर यही होगा कि आप इसे लेने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

प्रश्न 4- क्या Rumalaya Tablet का इस्तेमाल करना सेफ है?

उत्तर- जी हाँ, Rumalaya Tablet का इस्तेमाल करना बिल्कुल सेफ है, इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं। लेकिन किसी भी दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना अच्छा है।

प्रश्न 5- क्या Rumalaya Tablet में कोई केमिकल होता है?

उत्तर- जी नहीं, Rumalaya Tablet में किसी भी प्रकार का केमिकल नहीं होता है। यह टैबलेट गिलोय और सहजन जैसी जड़ी-बूटियों से बनाई जाती है।

प्रश्न 6- Rumalaya Tablet का इस्तेमाल किसलिए किया जाता है?

उत्तर- Rumalaya Tablet का इस्तेमाल गठिया और अन्य जोड़ों से संबंधी बीमारियों जैसे जोड़ों का दर्द आदि का इलाज करने के लिए किया जाता है।

प्रश्न 7- क्या Rumalaya Tablet फायदेमंद होती है?

उत्तर- जी हाँ, Rumalaya Tablet जोड़ सम्बधी कई समस्याओं में फायदेमंद साबित हो सकता है। यह जोड़ो में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने और इन्फ्लेमेशन को कम करने में बेहद फायदेमंद होता है।

प्रश्न 8- क्या Rumalaya Tablet का इस्तेमाल पेट के लिए सुरक्षित होता है?

उत्तर- अभी तक इस बात पर कोई रिसर्च देखने में नहीं आयी है कि Rumalaya Tablet का इस्तेमाल करने से पेट पर क्या असर होता है। 

प्रश्न 9- क्या Rumalaya Tablet लेने से इसकी लत या आदत लग सकती है?

उत्तर- जी नहीं, यह टैबलेट लेने से आपको इसकी आदत या लत नहीं लगती है।

प्रश्न 10- क्या Rumalaya Tablet के साथ शराब का सेवन किया जा सकता है?

उत्तर- इस सम्बंध में अभी तक कोई रिसर्च सामने नहीं आयी है। इस सवाल के जवाब के लिए आप अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

प्रश्न 11- क्या गर्भवती महिलाएं Rumalaya Tablet का इस्तेमाल कर सकती हैं?

उत्तर- इस सम्बंध में किसी भी प्रकार की रिसर्च अभी तक नहीं की गई है। इसके लिए आप किसी डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

प्रश्न 12- क्या Rumalaya Tablet के कोई साइडइफ़ेक्ट हैं?

उत्तर- नहीं, अभी तक Rumalaya Tablet के किसी भी तरह के साइडइफ़ेक्ट नहीं देखे गए हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सम्पर्क कर सकते हैं।

Disclaimer –  हमने इस पोस्ट में जो कुछ भी लिखा है, वह आपको इस दवा से जुड़ी  जानकारी देने के लिए लिखा है। यह पोस्ट डॉक्टर के द्वारा नही लिखी गयी है, तथा हम यह दवा बिना डॉक्टर से पूछे खाने की सलाह नही देते हैं। दवा का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से  जरूर सलाह ले |

Share on:
you may also like this!

मैं Sandeep इस MyHindigyan ब्लॉग पर Tablet , Cream, Health Tips & Tricks से सम्बंधित पोस्ट Share करता हु। हमारा काम पसंद आये तो ब्लॉग को सब्सक्राइब और पोस्ट को शेयर जरूर करे।

2 thoughts on “Rumalaya Tablet in Hindi – उपयोग, खुराक, दुस्प्रभाव, फायदे”

Leave a Comment