saur sujala yojana
Image Source : Image By Pixabay From Pexels.com

सौर सुजला योजना क्या है? – Saur Sujala Yojana in Hindi

छत्तीसगढ़ कृषि और सिंचाई की भूमि है। सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) छत्तीसगढ़ के किसानों की भलाई व कल्याण लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा 1 नवंबर 2016 को नया रायपुर, छत्तीसगढ़ में शुरू की एक नई योजना है। सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत राज्य सरकार छत्तीसगढ़ में किसानों को सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंप (Solar Irrigation Pumps) प्रदान करेगा जिससे वे अपनी भूमि पर कृषि व सिंचाई कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ में ऐसे कई गांव हैं जहाँ राज्य सरकार द्वारा आज भी बिजली नहीं पहुंचाई जा सकी है। इसलिए सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) उन किसानों के लिए एक वरदान की तरह है जिन्हें सिंचाई के लिए बिजली की जरूरत पड़ती थी।

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) का उद्देश्य :-

  • सौर सुजला योजना का मुख्य उद्देश्य रियायती दरों पर उन्हें सौर सिंचाई पंप प्रदान करके किसानों को सशक्त बनाना है।
  • इस योजना से न केवल किसान अपनी भूमि पर खेती करने के लिए अधिक सक्षम होंगे बल्कि इस योजना के तहत ग्रामीण छत्तीसगढ़ में कृषि और ग्रामीण विकास को मजबूत बनाने में भी मदद मिलेगी।
  • सौर सुजला योजना के तहत सरकार क्रमश: 3HP और 5HP क्षमता वाले सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंपों को किसानों को वितरित करेगी। पंप 31 मार्च 2019 तक किसानों को रियायती दरों पर उपलब्ध कराये जायेंगे।
  • सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत अगले दो साल में छत्तीसगढ़ में लगभग 51000 किसान लाभान्वित होंगे।
  • इस योजना को उन क्षेत्रों में प्राथमिकता के आधार पर लागू किया जाएगा जहां बिजली अभी तक नहीं पहुँची है।  

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) का कार्यान्वयन :- 

  • इस को योजना छत्तीसगढ़ सरकार के ऊर्जा विभाग के अधीन क्रेडा (छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी) / CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा लागू किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत चालू वित्तीय वर्ष यानि 2017-18 के भीतर लगभग 11000 सौर पंप (Solar Irrigation Pumps) राज्य के कई क्षेत्रों में किसानों को वितरित किया जाएगा। 
  • सौर सुजला योजना के तहत लाभार्थियों का चयन राज्य सरकार के कृषि विभाग द्वारा किया जाएगा।
  • किसान जो पहले से ही बोरवेल (Borewell) या पंप योजना (Pump Scheme ) के तहत लाभान्वित है वो भी इस योजना के लिए पात्र होंगे। 

यह भी पढ़ेप्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है?

यह भी पढ़ेप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है?

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत वितरित सोलर पम्पों के प्रकार :-

  • मोदी सरकार ने सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत लाभार्थियों को 2 तरह के सोलर पंप वितरित किये जायेंगे।
  • इन सोलर पम्पों की क्षमता और विन्यास (Capacity and Configuration) अलग -2 होगा।
  • इनमे से पहला सोलर पंप 3HP का है। यह छोटे पैमाने के किसानों के लिए उनकी सिंचाई गतिविधियों के प्रदर्शन के लिए फायदेमंद हो सकता है।
  • दूसरा सोलर पंप 5HP का है जिसकी क्षमता अधिक है और यह ज्यादा पानी को पंप (pump) कर सकता है।
  • यह माध्यम से उच्च पैमाने के किसानों के लिए उनकी सिंचाई गतिविधियों के प्रदर्शन के लिए फायदेमंद हो सकता है। ये दोनों ही सोलर पंप (Solar Pump)अत्यधिक कुशल हैं और CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा इन पम्पों के installation और maintenance में Technical Support दिया जाता है। 

सौर सुजला योजना के तहत सोलर पम्पों की रियायती दरें :- 

  • वर्तमान में 5HP सोलर पंप (Solar Pump) की बाजार में कीमत 4.5 लाख है। सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत ये सोलर पंप (Solar Pump) किसानों को रियायती दरों (subsidized rates) पर उपलब्ध कराये जायेंगे।
  • 5HP सोलर पंप (Solar Pump) की रियायती कीमत लगभग 10,000- 20,000 होगी जो इस समय निश्चित नही है। वहीँ काम क्षमता वाले 3HP सोलर पंप (Solar Pump) की बाजार में कीमत 3.5 लाख है।
  • ये सोलर पंप (Solar Pump) योजना के तहत योग्य किसानों को 7,000- 18,000 की रियायती कीमत पर प्रदान किये जायेंगे। इसलिए यह पम्पों पर एक भारी छूट है अन्यथा गरीब किसानों के लिए unaffordable होता।

यह भी पढ़ेप्रधानमंत्री जन धन योजना क्या है?

यह भी पढ़ेबेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना क्या है?

सौर सुजला योजना के तहत कैसे पंजीकृत हो :-  

  • इस योजना के लाभार्थियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का कृषि विभाग (Agriculture Department) मुख्य पंजीयन प्राधिकरण (Registering Authority) है।
  • किसान आवेदन करने के लिए मुक्त है पर रियायती दरों में सोलर पंप बांटने के लिए योग्य पात्रों को चयन कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा किया जायेगा। 
  • इस योजना के लिए आवेदन पत्र ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है।
  • आवेदन को ठीक से भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ केवल कृषि कार्यालयों में प्रस्तुत करना होगा। इस योजना के लिए आवेदन शुल्क भी है।
  • आवेदन प्राप्त होने के बाद CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा जांच की जाती है की आवेदक इस योजना के लिए योग्य पात्र है या नही।

सौर सुजला योजना में शामिल होने के लिए लाभार्थी की आवश्यक जानकारी :-  

  • इस योजना के लिए कृषि विभाग (Agriculture Department) आवेदक से आवश्यक जानकारी एकत्रित करने के लिए जिम्मेदार है।
  • लाभार्थी का नाम व पता उचित दस्तावेज जैसे पहचान के सबूत (Identity Proof) और पते के सबूत (Address Proof) के साथ एकत्रित करना।
  • इस योजना में शामिल होने के लिए आधार नंबर (Adhar Number) अनिवार्य है। इन दस्तावेजों के सत्यापन के बाद लाभार्थी के बैंक खाते (Bank Accounts) की जानकारी आवश्यक होती है।
  • आवेदक को अपनी किसी एक बचत बैंक खाते (Saving Bank Accounts) की जानकारी प्रदान करनी होगी।
  • आवेदक को अपना Mobile Number भी अनिवार्य रूप से प्रदान करना होगा। लाभार्थियों को SMS के माध्यम से परियोजना के बारे में update करते रहा जायेगा।

यह भी पढ़ेनई मंजिल योजना क्या है?

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो इसे लोगों को शेयर करें। क्योंकि ज्ञान बांटने से बढ़ता है और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर ले जिससे आपको हमारे नए पोस्ट की Notification सबसे पहले मिले और कोई भी पोस्ट Miss ना हो। अगर आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये। हम आपके प्रश्नो का उत्तर अवश्य देंगे। धन्यवाद !!

यह भी पढ़े

About the author

Fuggy Pandey

Fuggy Pandey

I am a content writer who specialized in writing about Facts, Technology, Life Hacks, Biography and Trending content. I'm working with a great team and have enjoyed the opportunities they have given me to help their knowledge grow.

View all posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *