smart city
Photo by Aleksejs Bergmanis from Pexels

स्मार्ट सिटी योजना क्या है? – Smart City in Hindi

देश में 100 शहरो को स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) बनाने का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया हैं। कम से कम एक स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) सभी राज्यों में हो ऐसा पैमाना तैयार किया गया हैं। जिसके लिए राज्य सरकारों को 15 दिन में अपने राज्य के शहरो की सूचि भेजना को कहा हैं। 25 जून 2015 को स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) प्रोजेक्ट को देश वासियों के सामने पैश किया हैं। 

  • केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने यह बताया कि प्रत्येक राज्य में एक स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) होगी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी का कार्य दो चरणों में होगा पहला नयी स्मार्ट सिटी का निर्माण, दूसरा पुराणी सिटी का नवीनीकरण। 
  • नयी स्मार्ट सिटी के लिए दो बड़े शहरों के बीच एक स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) देने की सोच हैं। 
  • जिस शहर में 1 लाख से अधिक की आबादी हैं उसे स्मार्ट सिटी (Smart City) बनाया जायेगा।
  • जिन शहरों को स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) बनाना हैं उसमे म्यूनिसिपल कारपोरेशन, बिजली की व्यवस्था एवम पानी की व्यवस्था के साथ ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था होना जरुरी हैं। साथ ही आईटी इस्तेमाल शहर हो।
  • साथ ही यह भी कहा गया कि एक स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) अपने नजदीकी शहर को विकास में मदद मिलेगी।
  • स्मार्ट सिटी में सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश के शहरों के नाम सम्मिलित किये गये हैं।

यह भी पढ़ेआयुष्मान भारत योजना क्या है?

स्मार्ट सिटी के लाभ :- 

  1. देश में जो महा नगर हैं उन्हें तो सभी सुविधायें मिलती ही है फिर वो तकनीकी ज्ञान हो यह व्यावहारिक ज्ञान यहाँ के स्टूडेंट हर मायने में सामान्य शहरी लोगो की तुलना में स्मार्ट होते हैं ऐसे में हर प्रदेश में स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) का आना सभी के लिए कारगर साबित होगा।
  2. छोटे- छोटे गाँव में विकास बहुत ही धीरे होता हैं ऐसे में स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) का आना इन गाँव के विकास में मदद करेगा। 
  3. छोटे शहरों के स्टूडेंट में भी कला, ज्ञान के बहुत अच्छे उदहारण मिलते हैं पर उन्हें उचित प्लेटफार्म नहीं मिलता लेकिन स्मार्ट सिटी (Smart City in Hindi) जैसे प्रोजेक्ट के कारण उन्हें भी समय पर और थोड़ी आसानी से आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। 
  4. स्मार्ट सिटी  में बाहरी कंपनी अपनी  कंपनी ओपन करेंगी जिससे रोजगार मिलेगा और गरीबी में नियंत्रण होगा।
  5. स्मार्ट सिटी का यह सपना बहुत बड़ा हैं बस जिस रोड मैप के साथ इसे लाया जा रहा हैं अगर उसी दिशा में पूरी ईमानदारी के साथ कार्य किया जायेगा तो जरुर एक दिन भारत भी स्मार्ट कंट्री में गिना जायेगा।
  6. 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्मार्ट सिटी के कॉन्सेप्ट को देशवासियों के सामने रखा जिनमे उन्होंने सीधे देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि आपका शहर स्मार्ट सिटी बनने के लिए सही हैं या नहीं। यह केवल आपका शहर ही तय करेगा। मोदी जी ने एक लाइन कहते हुए स्मार्ट सिटी  के कॉन्सेप्ट को परिभाषित किया “ऐसा शहर जो नागरिक की जरुरत से दो कदम आगे हो। 
  7. स्मार्ट सिटी के लिए कुछ मापदंड तैयार किये गये हैं जिस शहर में यह सभी गुण होंगे उन्हें स्मार्ट सिटी में शामिल किया जायेगा। यह सभी गुण होने पर एक शहर को स्मार्ट सिटी कहा जायेगा। 

यह भी पढ़ेअटल पेंशन योजना क्या है?

स्मार्ट सिटी के लिए मापदंड कुछ इस तरह हैं :–

  1. 24 घंटे बिजली एवम पानी की सुविधा होना चाहिये। 
  2. शहर में उचित ट्रांसपोर्ट सुविधा होना चाहिये।
  3. सड़को का उचित वर्गीकरण होना चाहिये जिसके तहत फुटपाथ एवम वाहन पाथ उचित तरह से बनाये जायें। 
  4. हाईटेक ट्रांसपोटेर्शन होना चाहिये। पब्लिक यातायात सुगम होना चाहिये। 
  5. शहर में हरियाली होना चाहिये।
  6. शहर एक अच्छी योजना के तहत बढायें गये हों।
  7. पुरे शहर में वाईफाई सिग्नल हो। 
  8. शहर में एक स्मार्ट पुलिस स्टेशन भी होगा। 

यह भी पढ़ेजन औषधि योजना क्या है?

कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी स्पीच में देश वासियों से पूरा सहयोग देने का अनुरोध किया हैं। जिस प्रकार स्वच्छ भारत मिशन में सरकार से ज्यादा एक्टिव जनता एवम मीडिया हैं उसी प्रकार अपने शहर को स्मार्ट सिटी बनाने में सभी नागरिको को भी जागरूक होना होगा।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुलकर मीडिया की तारीफ की जिस तरह मीडिया सफाई अभियान के लिए सभी को जागरूक करती आई हैं यह सराहनीय हैं। मोदी जी ने देश के विकास में सभी को भागीदारी बनाया हैं।
  • स्मार्ट सिटी के लिए केंद्र द्वारा 48 हजार करोड़ रुपए का बजट तैयार किया गया हैं।  इसके अलावा भी दो योजनायें सरकार द्वारा लॉन्च की गई हैं। इन तीनो योजनाओं को सरकार ने काफी देख परख कर स्वयं मोदी जी के सानिध्य में स्टार्ट किया हैं। साथ ही इसके लिए प्रदेशों एवम नगर निगमों को भी अपनी राय देने के लिए आमंत्रित किया गया हैं। 
  • स्मार्ट सिटी एक अभूत बड़े पैमाने पर लायी गई योजना हैं जिसे मूलरूप देने के लिए सभी का सहयोग आवश्यक हैं। 
  • देश की पहली स्मार्ट सिटी (GIFT) का कार्य वर्ष 2011 में ही शुरू हो गया था।
  • प्रधानमंत्री मोदी जी ने गुजरात में एक स्मार्ट सिटी डेवेलप्मेंट का कार्य शुरू भी कर दिया हैं इस स्मार्ट सिटी का कार्य मोदी जी ने वर्ष 2011 में अहमदाबाद के नजदीक ही शुरू कर दिया था जिसे गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंशल टेक (GIFT) नाम दिया गया हैं। यह गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंशल टेक अन्य स्मार्ट सिटी के लिए एक उदहारण का कार्य करेगी। 
  • Smart City का यह फैसला हम सभी के लिए बहुत अच्छा होगा। देश के विकास के लिए शहरो के विकास जरुरी हैं और साथ ही गाँव की रुपरेखा भी सुधारना बहुत जरुरी हैं। जिसके लिए हर राज्य में एक स्मार्ट सिटी होना जरुरी हैं। और जिस दिन यह कार्य हो जायेगा देश का विकास तेजी से होगा। 
  • Smart City एक ऐसा कॉन्सेप्ट हैं जो हम सभी को डिजीटल दुनियाँ के और भी करीब ले जायेगा। जिससे विज्ञान की तेजी के साथ ही हम सबका का मानसिक विकास होगा। हममे और पश्चिमी देशो में बस डिजिटलाइजेशन का ही फर्क हैं। हमारे विकास की दर कम हैं उसका कारण हैं डिजिटल दुनियाँ से हमारी दुरी। अगर हम यह दुरी तय कर लेते हैं तो हम आसानी से विकसित देश की गिनती में आ खड़े होंगे।
  • मोदी जी ने अपनी स्पीच में यह स्पष्ट कर दिया हैं कि यह स्मार्ट सिटी योजना उपर से नहीं नीचे से शुरू हो रही हैं जिसमे अपने शहर की जानकारी एवम समस्या पर पहली बार नगर निगम एवम पालिका बात करेंगी। लोगो को जागरूक बनाने के लिए #Mera_Shahar_Mera_Sapna (मेरा शहर मेरा सपना) का स्लोगन भी श्री मोदी जी ने दिया। अब इस दिशा में कार्य निम्न स्तर से शुरू होगा।

यह भी पढ़ेसुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

स्मार्ट सिटी बनाये जाने में शहरों के नाम : 

अब तक स्मार्ट सिटी योजना में जिन राज्यों के शहरों के होने की खबर हैं उनकी सूचि निम्नानुसार हैं। 

मध्यप्रदेश

1. भोपाल 

2. इंदौर 

3. सागर

4. जबलपुर

5. सतना

6. उज्जैन

7. ग्वालियर 

उत्तरप्रदेश 

1.       कानपुर

2.       इलाहबाद

3.       लखनऊ

4.       झाँसी 

5.       आगरा 

6.       वाराणसी  

7.       मुरदाबाद  

8.       अलीगढ़  

9.       सारहनपुर  

10.     बरेली  

11.     रामपुर  

12.     गाजियाबाद 

महाराष्ट्र 

1.   पुणे 

2.   नवी  मुंबई  

3.   नागपुर  

4.   नासिक  

5.   औरंगाबाद  

6.   कल्याण डोम्बिवली  

7.   ठाणे  

8.   अमरावती  

9.   सौलहपुर  

10.   ग्रेटर मुंबई 

यह भी पढ़ेपब्लिक प्रोविडेंट फंड क्या है ?

पौण्डीचेरी 

1.      ओउलग्रेट 

केरला 

1.      कोच्ची 

लक्ष्यद्वीप  

1.      कवर्रती  

मिजोरम  

1.      ऐज्वाल 

हिमाचल प्रदेश

1.       धर्मशाला 

गोवा

1.       पणजी 

मेघालय 

1.       शिलांग  

दिल्ली 

1.       दिल्ली 

दमन दिउ 

1.        दिउ  

अंडमान निकोबार  

1.         पोर्ट ब्लेयर  

छत्तीसगढ़ 

1.          रायपुर 

2.          बिलासपुर  

चंडीगढ़  

1.          चंडीगढ़  

असम  

1.        गुवाहटी  

अरुणाचल प्रदेश 

1.        पासीघाट  

दादर नगर हवेली  

1.        सिलवासा  

मणिपुर  

1.       इम्फाल  

नागालैंड  

1.       कोहिमा  

उड़ीसा 

1.       भुबनेश्वर 

2.       राउरकेला  

गुजरात 

1.       अहमदाबाद  

2.       सूरत  

3.       वडोदरा  

4.       राजकोट  

5.       दाहोद  

6.       गाँधीनगर 

राजस्थान  

1.        जयपुर

2.        अजमेर  

3.        कोटा 

4.        उदय पुर

झारखण्ड  

1.        रांची 

त्रिपुरा  

1.        अगरतला 

तेलंगाना  

1.        ग्रेटर वारंगल 

2.        ग्रेटर हेद्राबाद 

सिक्किम  

1.        नामची 

पंजाब 

1.        लुधियाना  

2.        अमृतसर  

3.         जालंधर 

यह भी पढ़ेआईवीएफ तकनीक क्या है?

बिहार 

1.        मुज्जफरपुर

2.        भागलपुर  

3.        बिहारशरीफ 

हरियाणा 

1.        फरीदाबाद

2.        कर्नल 

कर्नाटक

1.        मंगलुरु  

2.        बेलगावी 

3.        शिवमोगा  

4.        हुब्ब्ली – धारवाड़  

5.        तुमकुरु 

6.        देवेनगरी 

आंध्रप्रदेश 

1.       विशाखापत्तनम  

2.       तिरुपति  

3.       काकीनाडा 

तमिलनाडु 

1.        चेन्नई 

2.        कोयंबटूर 

3.        मदुरई 

4.        तिरुचिरापल्ली  

5.        सलेम  

6.        तिरुन्नेवली  

7.        वेल्लोर  

8.        तिरुपुरा  

9.        इरोड 

10.      तंजावुर  

11.       डिंडीगुल  

12.       मदुरै 

13.       थूठुकुडी 

उत्तराखंड 

1.        देहरादून 

पश्चिमबंगाल 

1.        न्यू टाउन कोलकाता 

2.        दुर्गापुर  

3.        हल्दिया  

4.        बिधाननगर 

जम्मू कश्मीर के लिए अभी शहर का नाम आना बाकी है।

यह भी पढ़ेकैसा होना चाहिए आपका SIGNATURE ?

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो इसे लोगों को शेयर करें। क्योंकि ज्ञान बांटने से बढ़ता है और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर ले जिससे आपको हमारे नए पोस्ट की Notification सबसे पहले मिले और कोई भी पोस्ट Miss ना हो। अगर आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये। हम आपके प्रश्नो का उत्तर अवश्य देंगे। धन्यवाद !!

और पढ़े

About the author

Fuggy Pandey

Fuggy Pandey

I am a content writer who specialized in writing about Facts, Technology, Life Hacks, Biography and Trending content. I'm working with a great team and have enjoyed the opportunities they have given me to help their knowledge grow.

View all posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *