जानिए क्यों मनाई जाती है रविवार के दिन ही छुट्टी? – Sunday Suspense

हम सब भारत के निवासी हैं और जहां तक मैं जानती हूं अपने भारत देश में रविवार (Sunday Suspense) का दिन सभी का प्रिय है। हर कोई बड़ी ही बेसब्री से पूरे सप्ताह सिर्फ रविवार (Sunday) की प्रतीक्षा करता है, फिर चाहे वो किसी कार्यालय का कोई बड़ा अधिकारी हो, स्कूल के छोटे छोटे बच्चे हों या फिर किसी भी दफ्तर में काम करने वाला कोई भी व्यक्ति हो चाहे छोटे पद पर हो या बड़े पद पर हो, हर किसी को इस एक दिन का बड़े बेसब्री से इंतजार रहता है। यही कारण है कि रविवार (Sunday suspense) का दिन हम भारतीयों के लिए बहुत अहम होता है। लेकिन आपको पता है कि हम में शायद ही किसी को यह बात पता हो कि आखिर क्यों रविवार (Sunday suspense) का ही दिन छुट्टी के लिए तय किया गया और यह दिन कब तय हुआ था?

जहां तक मै सोच रही हूं शायद आपको भी इसके पीछे का इतिहास नहीं पता तभी तो आप हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं। तो चलिए आज मैं आपको इसके पीछे के पूरे इतिहास के बारे में बताती हूं, कि कौन सा ऐसा कारण था कि साप्ताहिक छुट्टी Holiday के लिए रविवार (Sunday in hindi) का दिन चूना गया और कब चूना गया?  

अगर हम बात करें बाकी अन्य देशों की तो आज के समय में रविवार की छुट्टी (Sunday Holiday) लगभग हर एक देश में मनाई जाती है। लेकिन अभी भी कुछ देश ऐसे हैं जिन देशों में रविवार की छुट्टी (Sunday Suspense) नहीं मनाई जाती है। यह एक ऐसा दिन है जब हर एक इंसान अपने परिवार के साथ समय बिताना चाहता है। इस दिन  एक अलग ही आनंद, अलग उत्सुकता का भाव लोगों के चेहरे पर नजर आता है। उनके चेहरे पर एक अलग प्रकार की चमक देखने को मिलती है। इंसान अपने हर दुख दर्द को भुलाकर इस दिन को Enjoy करना चाहता है।

यह भी पढ़े127 बातें जो पाकिस्तान को बनाती है खास

यह भी पढ़ेबांग्लादेश के बारे में कुछ रोचक तथ्य

रविवार की छुट्टी का इतिहास –
History of Sunday Holiday

  • मैं आपको बताना चाहती हूं कि इस छुट्टी के पीछे बहुत सारे लोगों ने बहुत बड़ा  संघर्ष किया है। 
  • जो रविवार (Sunday) की छुट्टी हम बड़े आनंद के साथ मानते हैं उसका पूरा श्रेय नारायण मेघाजी लोखंडे जी को जाता है। 
  • ये वो पहले इंसान हैं जिन्होने सबसे पहले रविवार की छुट्टी (Sunday Holiday in hindi ) के लिए लड़ाई लड़ी थी।
  • बात उस समय की है जब हमारे भारत पर अंग्रेजों का शासन हुआ करता था।
  •  तब के समय मजदूरों को सप्ताह के पूरे सातों दिन काम करना पड़ता था। यही कारण था कि कोई मजदूर अपने परिवार (How to Spend Sunday With Your Family) के साथ समय नहीं बिता पाते थे इतना ही नहीं मजदूर अपने शरीर को आराम तक नहीं दे पाते थे।  
  • तब  ब्रिटिश शासन के समय  में मजदूरों के नेता नारायण मेघाजी लोखंडे हुआ करते थे। उन्होंने ही ब्रिटिश सरकार के सामने यह समस्या रखी और सप्ताह में कम से कम एक दिन की छुट्टी (Sunday Suspense) रखने का निवेदन किया था।
  • लेकिन ब्रिटिश सरकार ने नारायण मेघाजी लोखंडे द्वारा रखे इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया।
  •  ब्रिटिश सरकार का यह फैसला नारायण मेघाजी लोखंडे को तथा मजदूरों को पसंद नहीं आया और सबने एक साथ मिलकर इसका विरोध किया।
  • आखिरकार 7 साल नारायण मेघाजी लोखंडे और उनके साथ काम कर रहे मजदूरों का संघर्ष रंग लाया और ब्रिटिश शासन ने 10 जून 1890 को रविवार की छुट्टी का आदेश जारी (Sunday Order Holiday Issued) कर दिया। इसी आदेश के बाद रविवार को छुट्टी (Sunday Chutti) करने का निर्णय लिया गया।
  • इसके अलावा हर दिन दोपहर को आधे घंटे की छुट्टी का आदेश दिया गया। 
  • धीरे-धीरे जैसे समय बीतता गया छुट्टी के नियमों (Chhutti ke Rules) में काफी बदलाव हुए।

यह भी पढ़े50 साइकोलॉजिकल फैक्ट्स जो आपको ज्ञान से भर देंगे

यह भी पढ़ेविज्ञान से जुड़े कुछ रोचक तथ्य : जरूर पढ़े

जारी किया डाक टिकट – Stamp Issued

  • साल 2005 में भारत सरकार ने श्रीनारायण मेघाजी लोखंडे के सम्मान में उनके नाम से एक डाक टिकट (Stamp Ticket) जारी किया। क्योंकी लोखंडे ही वो व्यक्ति थे, जिनकी मांग के कारण मजदूरों को सप्ताह में रविवार (Sunday) की छुट्टी और अन्य दिनों में आधे घंटे की खाने की छुट्टी मिलने लगी।  
  • लोखंडे जी ने ही मजदूरों के मासिक वेतन को नियमित करवाने में बहुत बड़ा योगदान दिया है।

यह भी पढ़े56 FACTS जो आपको चौका के रख देंगे!

यह भी पढ़े25 ऐसे FACTS जिन्हें जानकर आप हैरान हो जाएंगे

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो इसे लोगों को शेयर करें। क्योंकि ज्ञान बांटने से बढ़ता है और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर ले जिससे आपको हमारे नए पोस्ट की Notification सबसे पहले मिले और कोई भी पोस्ट Miss ना हो। अगर आपके मन में कोई प्रश्न उठ रहा हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये। हम आपके प्रश्नो का उत्तर अवश्य देंगे। धन्यवाद !!

और पढ़े

About the author

Fuggy Pandey

Fuggy Pandey

I am a content writer who specialized in writing about Facts, Technology, Life Hacks, Biography and Trending content. I'm working with a great team and have enjoyed the opportunities they have given me to help their knowledge grow.

View all posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *